ज्योतिष: जानें राशि के अनुसार आपको कौन-सा रुद्राक्ष आपके भाग्य को चमकाएगा

भगवान शिव को बेहद प्रिय है रुद्राक्ष ।
रुद्राक्ष के बारे में ऐसी मान्यता है कि जब भगवान शिव और माता सती अलग हुए तो मां सती का वियोग भगवान शिव से सहन नहीं हुआ और उनकी आंखों से आंसू की धारा निकल पड़ी। भगवान शिव की आंखों से निकले इन्हीं आंसू से एक पेड़ का निर्माण हुआ। चूंकि रुद्र की आंखों से यह अक्ष (आँसू) निकले थे ऐसे में इससे बने पेड़ को रुद्राक्ष का नाम दिया गया। कहा जाता है रुद्राक्ष धारण करने से भगवान शिव को सती माता की याद आती है और यही वजह है कि उन्हें रुद्राक्ष बेहद ही प्रिय होता है।

राशि अनुसार कौन सा रुद्राक्ष करें धारण


मेष राशि:- आपके लिए 3 मुखी रुद्राक्ष धारण करना शुभ रहेगा।

वृषभ राशि:- आपके लिए छह मुखी रुद्राक्ष धारण करना अनुकूल रहेगा।

मिथुन राशि:- आपके लिए 4 मुखी रुद्राक्ष धारण करना शुभ परिणाम लेकर आएगा ।

कर्क राशि:- 2 मुखी रुद्राक्ष आपके लिए बेहद अनुकूल रहेगा।

सिंह राशि:- 12 मुखी रुद्राक्ष धारण करने से आपके जीवन में शुभ परिणाम प्राप्त होंगे।

कन्या राशि:– आपको जीवन के विभिन्न मोर्चों पर लाभ प्राप्त करने के लिए 4 मुखी रुद्राक्ष धारण धारण करने की सलाह दी जाती है

तुला राशि:- स्वास्थ्य लाभ और तमाम अन्य लाभ प्राप्त करने के लिए आपको छह मुखी रुद्राक्ष धारण करने की सलाह दी जाती है।

वृश्चिक राशि:- जीवन के हर क्षेत्र में सफलता व तरक्की के लिए 3 मुखी रुद्राक्ष धारण करें।

धनु राशि:- आपके लिए पंचमुखी रुद्राक्ष धारण करना शुभ रहेगा।

मकर राशि:– आपके व्यक्तिगत विकास के लिए सात मुखी रुद्राक्ष धारण करना बेहद शुभ साबित होगा।

कुंभ राशि:- मनचाही सफलता प्राप्त करने के लिए आपको 7 मुखी रुद्राक्ष पहनने की सलाह दी जाती है।

मीन राशि:- पंचमुखी रुद्राक्ष धारण करने से आपको महादेव का वरदान प्राप्त होगा और जीवन में सकारात्मक बदलाव आने लगेंगे।

सावन के आखिरी दिनों में रुद्राक्ष दान करने का महत्व
जी हां रुद्राक्ष को धारण करने के साथ-साथ के यदि इसका दान भी किया जाए तो इससे व्यक्ति के सुख और समृद्धि में वृद्धि होती है। माना जाता है कि रुद्राक्ष को दान करने से व्यक्ति का ऐश्वर्य बढ़ता है। हालांकि इस बात का विशेष ध्यान रखें कि अभिषेक, शिव पुराण कथा वाचन-श्रवण जप के बाद ही इसका दान करें। इससे दान का महत्व कई गुना बढ़ जाता है।

इसके अलावा यदि आप सावन के महीने में दीपदान करते हैं तो इससे भी शुभ फल की प्राप्ति होती है। श्रावण मास में नियमित रूप से दीपदान करने से भगवान शिव की प्रसन्नता हासिल होती है।
सावन में वृक्ष दान और पौधारोपण बेहद शुभ माना जाता है। कहते हैं श्रावण के महीने में यदि बिल्वपत्र, शमी वृक्ष, शिवलिंगी, आंवला आदि पौधों को लगाया जाए या इनका दान किया जाए तो इससे भी व्यक्ति को सुख समृद्धि का वरदान प्राप्त होता है।

इसके अलावा महादेव को प्रसन्न करने के लिए सावन के आखिरी दिनों में गाय को हरी घास खिलाएं और गरीब लोगों को भोजन कराएं।

सभी ज्योतिषीय समाधानों के लिए क्लिक करें:-
www.ratnakartiwariastrologer.com

हम उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा यह लेख ज़रूर पसंद आया होगा। अगर ऐसा है तो आप इसे अपने अन्य शुभचिंतकों के साथ ज़रूर साझा करें। धन्यवाद!!
|| आपका दिन शुभ हो ||

Leave a Comment

Your email address will not be published.